नारायण जगदीसन का जीवन परिचय | Narayan Jagadeesan wiki biography in hindi

नारायण जगदीसन का जीवन परिचय | Narayan Jagadeesan wiki biography in hindi

व्यक्तिगत जानकारी
नाम:- एन जगदीसन
पुरा नाम:- नारायण जगदीसन
जन्म दिनांक:- 24 दिसंबर 1995
उम्र:- 25 साल (2021 तक)
जन्म स्थान:- कोयंबटूर, तमिलनाडु
गृहनगर:- कोयंबटूर, तमिलनाडु
नागरिकता/राष्ट्रीयता:- भारतीय
व्यवसाय:- क्रिकेटर (विकेटकीपर, बल्लेबाज)
राशिफल:- मकर राशि
धर्म:- हिन्दू
शारीरिक जानकारी
आंखों का रंग:- काला
बालों का रंग:- काला
लम्बाई:- 180 सेंटीमीटर
1.80 मीटर
5 फीट 11 इंच
वज़न:- 64 किलोग्राम
क्रिकेट की जानकारी
राज्य की टीम:- तमिलनाडु
IPL टीम:- चेन्नई सुपर किंग्स (2018 से वर्तमान)
कोच/मेंटोर:- एजी गुरुसामी
बैटिंग स्टाइल:- राइट हैंड बैट्समैन
बॉलिंग स्टाइल:- N/A
अंतरराष्ट्रीय डेब्यू:- TEST: N/A
ODI: N/A
T-20: N/A
शिक्षा और योग्यता
स्कूल:- पता नहीं
कॉलेज:- PSG कॉलेज, कोयंबटूर
Qualification:- Graduate in Commerce
वैवाहिक स्थिति, प्रेम सम्बंध
वैवाहिक स्थिति:- UnMarried
Affair/Girlfriend:- पता नहीं
परिवार
पिता का नाम:- सीजे नारायण (क्रिकेटर)
माता का नाम:- जयश्री
narayan jagdeesan family
भाई का नाम:- पता नहीं
बहन का नाम:- पता नहीं
मनपसंद चीज़े
पसंदीदा क्रिकेटर:- विराट कोहली
पसंदीदा खाना:- साउथ इंडियन
सोशल मीडिया
Instagram:- @jagadeesan_208
Facebook:- N/A
Twitter:- @Jagadeesan_200
Wikipedia:- Narayan Jagadeesan


नारायण जगदीसन से जुड़े कुछ रोचक तथ्य

  • उन्हें अपने पिता सीजे नारायण से क्रिकेट खेलने की प्रेरणा मिली थी, जो मुंबई में टाटा इलेक्ट्रिक कंपनी के लिए क्रिकेट खेलते थे।
  • उन्होंने नौ साल की उम्र में क्रिकेट खेलना शुरू किया था।
  • 27 अक्टूबर 2016 को, उन्होंने कटक में अपना प्रथम श्रेणी डेब्यू (2016-17 रणजी ट्रॉफी में मध्य प्रदेश v तमिलनाडु) किया और उन्हें ‘मैन ऑफ द मैच’ का अवॉर्ड मिला था।
  • 9 प्रथम श्रेणी मैचों में उनका कुल स्कोर 43.70 के औसत से 437 है जिसमें 2 शतक, 1 अर्धशतक और 33 कैच शामिल हैं।
  • जगदीसन ने 10 लिस्ट-ए मैचों में 44.30 के औसत से 443 रन बनाए थे।
  • उन्हें IPL 2018 में खेलने के लिए चेन्नई सुपर किंग्स द्वारा 20 लाख में खरीदा गया था।
  • वह एक तेज गेंदबाज बनना चाहते थे लेकिन उनके गुरु और पिता ने उन्हें विकेटकीपर बनने का सुझाव दिया था।
  • उनके अनुसार, उनकी विकेट कीपर की भूमिका उनकी बल्लेबाजी को विकसित करने में बहुत मदद करती है क्योंकि वह प्रत्येक गेंद का सूक्ष्मता से निरीक्षण कर सकते हैं और पूरे खेल मैदान कि 360 डिग्री के कोण पर देख सकते हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *